आखिर क्यों रवि किशन को भोजपुरी सोंग में अश्लीलता को लेकर पड़ रही हैं गालियाँ | जाने पूरा मामला |

रवि किशन ( Ravi Kishan ) ने अश्लीलता बंद करने की आवाज़ क्या उठाई की सोशल मीडिया पर ट्रोल हो गए और लोगों ने उन्हें उनका पास्ट याद दिला दिया , लोगों ने उनके गानों की लिस्ट शेयर कर दी .

साथ ही लोगों ने कहा की जितनी अश्लीलता आपने परोसी है उतनी तो किसी ने भी नहीं परोसी है , आपको बता दे की कुछ ही दिनों पहले रवि किशन ने अपने एक इंटरव्यू के दौरान कहा की अब वो भोजपुरी गानों पर जो अश्लीलता दिखाई जाती है उस पर रोक लगाने के लिए संसद में आवाज़ उठाएंगे .

उन्होंने कहा की भोजपुरी भाषा हज़ार साल पुरानी है आज भी 25 करोड़ लोग इस भाषा में बात करते हैं, कुछ लोग भोजपुरी गानों में अश्लीलता करके भोजपुरी गानों को बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं .

मैं इसके खिलाफ संसद में कड़े क़ानून की मांग करूँगा उन्होंने यह तक कहा है की भोजपुरी भाषा पर सेंसर लगाने के लिए उत्तर प्रदेश में एक सेंसर बोर्ड गठित करने के लिए मैं योगी आदित्यनाथ ( Yogi Adityanath ) से भी बात करूँगा .

रवि किशन के इस कमेंट के बाद जनता ने उन्हें ट्रोल करना शुरू कर दिया और ये कहा की 100 चूहे खाके बिल्ली हज को चली , एक यूसर ने लिखा की रवि किशन जो खुद पिछले कई सालों से B और C ग्रेड फिल्मों का हिस्सा थे , वल्गर और अश्लील गानों में खुद ने काम किया है आज अचानक से साधू कैसे बन गए .

एक यूसर ने लिखा की राजा चटईया पे बड़ा मज़ा आये ये गाना किसका है जरा बताना , भैया क्यों सूंघ कर आते हो बयान देने से पहले , यानी की क्यों नशा करके आते हो बयान देने से पहले .

खुद ने तो सारे गाने अश्लील ही किये तो अब संस्कार की गंगोत्री क्यों बहा रहे हो , लोगों ने ना सिर्फ रवि किशन को सोसिला मीडिया पे ट्रोल किया बल्कि उनके बी और सी ग्रेड के अश्लील गानों की लिस्ट बनाकर उन्हें याद दिलाया की सबसे अश्लीलता भोजपुरी गानों में किसने परोसी.

तो कुछ इस तरह से रवि किशन अपने ही शब्दों का शिकार हो गये और जो मुद्दा है इस बार थोडा गलत उठा लिया , आपको बता दे की रवि किशन ने कुछ ही दिनों पहले ड्रग मामले में भी आवाज़ उठाई थी तब भी काफी विवाद हुआ था .

Leave a Reply

Your email address will not be published.